मुसलमानों के साथ ठगी करने वाले IMA घोटाले में CBI ने दाखिल किया पूरक आरोपपत्र

मुसलमानों के साथ ठगी करने वाले IMA घोटाले में CBI ने दाखिल किया पूरक आरोपपत्र

खास बातें

  1. IMA घोटाले में दो आरोपियों के खिलाफ बेंगलुरु की अदालत में दाखिल किया पत्र
  2. इस घोटाले में निवेशकों को कई गुना अधिक रकम वापसी का वादा किया गया था
  3. इस मामले में जांच एजेंसी द्वारा दाखिल यह दूसरा आरोपपत्र है
नई दिल्ली:

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने लाखों लोगों और खास तौर पर मुसलमानों के साथ कथित ठगी करने से जुड़े आई-मोनेट्री एडवाइजरी (IMA) पोंजी घोटाले में दो आरोपियों के खिलाफ बेंगलुरु की अदालत में एक पूरक आरोपपत्र दाखिल किया है. एजेंसी द्वारा दाखिल किए गए पूरक पत्र के बारे में एक अधिकारियों ने बताया कि इस घोटाले में निवेशकों को कई गुना अधिक रकम वापसी का वादा कर निवेश करने के लिए प्रलोभन दिया गया था.

IMA ज्वेल्स के मालिक ने स्वीमिंग पूल के नीचे दबा रखे थे 303 किलोग्राम वजन के नकली सोने के बिस्किट

अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी ने मोहम्मद हनीफ और खलीमुल्ला जमाल के खिलाफ एक विशेष अदालत में हाल ही में आरोपपत्र दाखिल किया है. उन पर मंसूर खान द्वारा लाई गई IMA की योजनाओं में निवेश के लिए लोगों को प्रलोभन देने का आरोप है. बता दें कि खान वर्तमान में हिरासत में है.


IMA स्कैम के आरोपी मंसूर खान को ED ने किया गिरफ्तार, वीडियो में किया था दावा- भारत छोड़ना बड़ी गलती थी

टिप्पणियां

अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में जांच एजेंसी द्वारा दाखिल यह दूसरा आरोपपत्र है. उन्होंने बताया कि शिवाजी नगर मदरसा में मौलवी हनीफ और कोलार जिले में उर्दू शिक्षक जमाल ने अपने सर्मथकों के बीच IMA की योजनाएं प्रचारित की थी. इसके एवज में उन्हें कंपनी ने कथित तौर पर भुगतान किया था.

Video: IMA घोटाला: मास्टरमाइंड मोहम्मद मंसूर खान दिल्ली से गिरफ्तार


(Disclaimer: This article is not written By 24Trends, Above article copied from Ndtv India.)